God Rebeats

Hindi Bhajan | Free Bhajan | Krishna Bhajan

तेरे दर को छोड़ के किस दर जाऊं मैं – विविध भजन

तेरे दर को छोड़ के किस दर जाऊं मैं – विविध भजन

tere dar ko chod ke kis dar jaaun main

 

निसदिन सुमिरन ही करूँ, राम राम श्री राम।
तेरे दर को छोड़ के, किस दर जाऊं मैं।

देख लिया जग सारा मैंने, तेरे जैसा मीत नहीं।
तेरे जैसा सबल सहारा, तेरी जैसी प्रीत नहीं।
किन शब्दों में आपकी महिमा गाऊं मैं॥

अपने पथ पर आप चलूँ मैं, मुझ में इतना ग्यान नहीं।
हूँ मति मंद नयन का अंधा, भला बुरा पहचान नहीं।
हाथ पकड़ कर ले जाओ, ठोकर खाऊं मैं॥

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

God Rebeats © 2015 Krishna Bhajan