God Rebeats

Hindi Bhajan | Free Bhajan | Krishna Bhajan

प्रगटे हैं चारों भैया में अवध में बाजे बधईया – राम भजन

प्रगटे हैं चारों भैया में अवध में बाजे बधईया – राम भजन

pragte hain charo bhaiya avadh me baaje badhiya raam bhajan

 

प्रगटे हैं चारों भैया में, अवध में बाजे बधईया ।

जगमगा जगमग दियाला जलत है,
झिलमिल होत अटरिया, अवध में बाजे बधईया ॥

कौन लुटावे हीरा मोती,
कौन लुटावे रूपया, अवध में बाजे बधईया ॥

राजा लुटावे हीरा मोती,
मैया लुटावे रूपया, अवध में बाजे बधईया ॥

झांझ मृदंग ताल डप बाजे
नाचत ता ता थैया, अवध में बाजे बधईया ॥

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

God Rebeats © 2015 Krishna Bhajan