God Rebeats

Hindi Bhajan | Free Bhajan | Krishna Bhajan

जिस ने हरी गुण गाए हरी दौड़े चले आए – कृष्ण भजन

जिस ने हरी गुण गाए हरी दौड़े चले आए – कृष्ण भजन

jisne hari gun gaye hari daude chale aaye

 

जिस ने हरी गुण गाए,
हरी दौड़े चले आए ।

भक्त प्रहलाद ने था पुकारा,
हिरण्यकशिपु को आकर के मारा ।
नरसिंह रूप धर आए,
हरी दौड़े चले आए ॥

दौपदी कौरवों से घिरी थी,
मुरली वाले से विनती करी थी ।
हरी आकर के चीर भडाए,
हरी दौड़े चले आए ॥

ऐसा भक्तों ने डाला थे फंदा,
प्रभु आप बने नाई नंदा ।
प्रेम से चरण दबाए,
हरी दौड़े चले आए ॥

दर्योधन के मेवा भी त्यागे,
भूख लागी तो उठ करके भागे ।
साग विधुर घर खाए,
हरी दौड़े चले आए ॥

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

God Rebeats © 2015 Krishna Bhajan