God Rebeats

Hindi Bhajan | Free Bhajan | Krishna Bhajan

बरसे बदरिया सावन की – कृष्ण भजन

बरसे बदरिया सावन की – कृष्ण भजन

barse badariya sawan ki meera bhajan

 

बरसे बदरिया सावन की।
सावन की मन भावन की॥

सावन में उमंगयो मेरो मनवा।
झनक सुनी हरि आवन की॥

उमड़ घुमड़ चहुँ देस से आयो।
दामिनी धमके झर लावन की॥

नन्हे नन्हे बूंदन मेघा बरसे।
शीतल पवन सुहावन की॥

मीरा के प्रभु गिरिधर नगर।
आनंद मंगल गावन की॥

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

God Rebeats © 2015 Krishna Bhajan